Ads By Google

 जैफ बेज़ोस की जीवनी 

Biography Of Jeff Bezos In Hindi 

जैफ बेज़ोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं और ये मानव इतिहास के पहले ऐसे व्यक्ति हैं जिनकी सम्पत्ति 100 बिलियन डॉलर का आंकड़ा पार कर पाई है।

जैफ बेज़ोस का दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बनने तक का सफर बहुत सारे संघर्षों और कठिनाइयों से भरा हुआ रहा है, चलिए जानते हैं जैफ बेज़ोस का दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति के पद तक पहुंचने का सफर ;

जैफ बेज़ोस की जीवनी


जैफ बेज़ोस का शुरुआती जीवन :

जैफ बेज़ोस का जन्म 12 जनवरी 1964 न्यू मैक्सिको सिटी युनाइटेड स्टेट्स में हुआ।उनके पिता का नाम  टेड जॉर्गंस था। उनके जन्म के समय उनकी माता जैकलिन मात्र 17 वर्ष की थीं, जैफ के जन्म के केवल 18 माह बाद ही उनके पिता जैफ और उनकी मां को छोड़कर चले गए।

जब तक वर्ष 4 वर्ष के हुए तब तक उनकी माता ने ही उनका पालन किया, उसके बाद जैफ की माता ने मिगुएल बेज़ोस से विवाह किया। मिगुएल बेज़ोस पेशे से एक इंजीनियर थे।

जैफ की रुचि बचपन से ही टेक्नोलॉजी में थी, वो अक्सर चीज़ों के बारे में यह पता करने की कोशिश करते थे कि आखिर यह काम कैसे कर रही है।

जैफ ने अपने में खुद का बनाया हुआ अलार्म लगाया था ताकि वह अपने भाई को कमरे में आने से रोक सकें।

जैफ बेज़ोस की शिक्षा :

जैफ ने अपनी शुरुआती पढ़ाई River Oaks Elementary School,  ह्यूस्टन से की।

जब जैफ 4th कक्षा में थे , उस समय उनके स्कूल में एक मेनफ्रेम कंप्यूटर आया था , जिसे चलाने में कोई भी महारथ हासिल न कर सका था, उसी समय जैफ ने अपने साथियों के साथ मिलकर सिर्फ कंप्यूटर की मैनुअल पढ़कर ही उसे चलाना सीख लिया।

 जैफ इस स्कूल में 6th तक पढ़े इसके बाद हाईस्कूल के लिए जैफ ने मियामी के पोलमेंटो सीनियर हाई स्कूल में दाखिला लिया।

हाईस्कूल के समय जैफ ने फ्लोरिडा विश्वविद्यालय में स्टूडेंट साइंस ट्रेनिंग के एक प्रोग्राम में भाग लिया जिसके लिए जैफ को 1982 में सिल्वर नाईट पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

1986 में जैफ ने प्रिंसटन विश्वविद्यालय से बेचोलर ऑफ़ 

इंजीनियरिंग की डिग्री विशेष योग्यता के साथ हासिल की।

शुरुआत में जैफ ने McDonald's में काम किया।

ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद जैफ ने वॉल स्ट्रीट में computer Science में काम किया। इसके बाद जैफ ने कुछ समय तक फिटेल कम्पनी के लिए व्यापार नेटवर्क बनाए और बाद में बैंकर्स ट्रस्ट में वाइस प्रेसिडेंट के पद पर काम किया।

जैफ बेज़ोस द्वारा Amazon की स्थापना :

1994 में जैफ ने Amazon की स्थापना की, यह उनके लिए काफी जोखिम भरा कदम था क्योंकि उस समय उनके पास एक अच्छी खासी नौकरी थी।

अमेजन में जैफ ने किताबें बेचने से शुरुआत करने का निश्चय किया, पहले जैफ अपनी ऑनलाइन कंपनी का नाम CadBara.com रखना चाहते थे लेकिन कंपनी के बनने के 3 महीने बाद ही इसका नाम बदल कर Amazon.com कर दिया गया।

Amazon दुनिया की सबसे बड़ी नदी है, इसीलिए जैफ ने भी अपनी कंपनी का नाम इसी नदी के नाम पर रखा क्योंकि वो भी दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन किताब बेचने वाली कंपनी बनाना चाहते थे।

जैफ ने Amazon की शुरुआत अपने ही घर के गैराज से की जहां पर उन्होंने 3 कम्प्यूटर्स और कुछ कर्मचारी थे, ऑनलाइन किताबें बेचने के लिए कंप्यूटर सॉफ्टवेयर भी खुद जैफ बेजोस ने ही तैयार किया था।

शुरुआती निवेश के तौर पर जैफ ने तीन लाख डॉलर की रकम अपने माता पिता से ली , उनके नए ऑनलाइन बिजनेस में उनकी माता और पिता ने बहुत मदद की।

16 जुलाई 1995 को जैफ ने अपनी वेबसाइट पर पुस्तकें बेचना शुरू कर दिया, काम शुरू होने के मात्र एक महीने के अंदर ही amazon ने पूरे अमेरिका के 50 राज्यों और 45 अन्य देशों में किताबों को बेचना शुरू कर दिया।

यह काम आसान नहीं था ,कभी कभी जैफ को खुद ही पुस्तकों को पैक करना और उन्हें ग्राहक तक पहुंचाने के लिए जाना पड़ता था।

किताबों की पैकिंग करने के लिए जमीन पर बैठकर काम करना पड़ता था, एक बार जब जैफ ने अपने साथियों से काम को आसान बनाने का कोई तरीका मांगा तो उनके एक साथी ने कहा कि उन्हें घुटनों के नीचे एक तकिया रख लेना चाहिए , यह सुनकर जैफ हंस पड़े और अगले ही दिन amazon के ऑफिस में कुछ टेबल आ गई और काम करना आसान हो गया।

जैफ और उनकी पूरी टीम बिन रुके घंटों तक काम किया करते थे , और इतनी मेहनत के बाद सितंबर 1995 तक जैफ बेज़ोस हर हफ्ते 20 हजार डॉलर तक की बिक्री करने लगे।

किताबों के ऑनलाइन स्टोर के रूप में शुरू हुई इस कंपनी में अब कंप्यूटर सॉफ्टवेयर , इलेक्ट्रॉनिक्स सामान और अन्य चीजें भी बेची जाने लगी।

जैफ के पिता ने उनके काम की शुरुआत में 3 लाख डॉलर की मदद की थी जो कि उन्हें 2006 में अरबपति बना गई, amazon में उनका शेयर 6 प्रतिशत था।

Amazon Kindle से फायदा :

नवंबर 2007 में जैफ ने amazon kindle लॉन्च किया जिससे पुस्तकों को डाउनलोड करके आसानी से पढ़ा जा सकता है।

लॉन्च होने के मात्र 6 घंटे बाद ही amazon का पूरा स्टॉक बिक गया, और amazon kindle अगले पांच महीने तक स्टॉक से बाहर ही रहा।

Amazon Kindle की वजह से amazon को कई स्थाई ग्राहक मिल गए।

Amazon ने अमेरिका की लगभग 95% ऑनलाइन पुस्तकों के बाजार पर अपना परचम लहरा दिया।

केवल 3 कर्मचारियों के साथ शुरू हुई यह कंपनी आज 3 लाख से अधिक कर्मचारियों के साथ काम करती है, इसके पीछे जैफ बेज़ोस की कड़ी मेहनत और दृढ़ निश्चय ही था।

साल 2018 के अंत तक अमेजॉन 1 ट्रिलियन डॉलर की कम्पनी बन गई, जो कि इस मुकाम तक पहुंचने वाली apple के बाद दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है।

जैफ बेज़ोस का निजी जीवन और संपत्ति :

 जैफ ने 1993 में मैकेंज़ी स्कॉट से विवाह किया, उनके चार बच्चे हैं।

जैफ बेज़ोस वर्तमान में विश्व के सबसे अमीर व्यक्ति हैं ,उनकी कुल संपत्ति 197 बिलियन अमेरिकी डॉलर है।

जैफ बेज़ोस सम्मान :

साल 1999 में टाइम मैगजीन ने जेफ बेजोस को 'पर्सन ऑफ द ईयर' और 'द किंग ऑफ साइबर कॉमर्स' की उपाधि दी गई थी। खास बात यह है कि बेजोस 35 साल की उम्र में यह पुरस्कार पाने वाले चौथे युवा थे।

यह भी पढ़ें :

एलोन मस्क की जीवनी 

सुंदर पिचाई की जीवनी

अरिजीत सिंह की जीवनी 

स्वामी विवेकानंद की जीवनी 

Post a Comment

Previous Post Next Post